इसे कहते हैं सिख स्वाभिमान, पगड़ी का मज़ाक उड़ा तो खरीदीं 7 रॉल्स रॉयस

रूबेन सिंह आप को बता दे की ये uk के अरबपतियों में शामिल भारतीय है वैसे आज हम इनके बारे में बता इस वजह से कर रहे है क्योकि उनकी कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिस में वो सात अलग अलग रॉल्स रॉयस कार के साथ है और वो भी कार उनकी ही है जी हां और इन सात करो को खरीदने की एक वजह भी आप को बता दे की जब वो अपने बिज़नेस के लिए अपने व्यापारी दोस्तों से आर्थिक मदद मांगी थी तब एक व्यक्ति ने कहा था तुम सिर्फ रंग बिरंगी पगड़ी ही बदल सकते हो और ये ही बता उन्होंने अपने दिल पर लेली।

इस सब के बाद उन्होंने कुल 7 रोल्स रॉयल कार की तस्वीरें अपनने ट्वीटर अकाउंट पर पोस्ट की और उस पपर ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा की “मेरी पगड़ी मेरा ताज है, मेरी शान है”। वैसे आप कको बता दे की रुबेन ब्रीटीएन के एक जाने माने बिजनेसमैन है वो एक कॉल सेंटर के मालिक हैं वैसे आप को बता दे की रुबेन ब्रिटिश पीएम टोनी ब्लेयर की सरकार में एडवाइजरी पैनल के मेंबर रह चुके हैं।

आप को बता दे की उनका जन्म दिल्ली में हुआ था और वो बेस्ड बिजनेसमैन सिख फॅमिली से है इनके पिता का नाम सरबजीत है और 70 के दशक में वो भारत से लंदन बिज़नेस की वजह से चले गए थे।बता दे की रुबेन उनके सबसे बड़े बेटे है और उनका जन्म साल 1976 में हुआ था।

जब रुबेन सिर्र्फ 13 साल के थे तभी से उनके पिता ने उन्हें अपने फॅमिली बिज़नेस से जोड़ लिए था और जब वो 19 साल के हुए तब उन्होंने मिस एटीट्यूड’ नाम से लेडीज क्लोथिंग, कॉस्मेटिक्स और फैशन एक्सेसरीज के नाम से अपना खुद का बिज़नेस शरू किया बता दे की सिर्फ 4 साल के अंदर इनके बिज़नेस का टर्नओवर 200 करोड़ हो गया था।

इस के बाद उन्होंने साल 1999 में उन्होंने अपना एक कॉल सेंटर भी खोला जिस का नाम All day PA है और वो मैनचेस्टर में है बता दे की उन्होंने इस में इनीशियल इनवेस्टमेंट 126 करोड़ का किया था जिस के बाद इन्हे साल 2002 में एशियन आंत्रेप्रेन्यॉर ऑफ द ईयर का अवार्ड मिला और जिस साल उनको ये अवार्ड मिला था उस ही साल फोर्ब्स मैगजीन ने उनकी कॉल सेंटर की नेटवर्थ 808 करोड़ रुपए आंकी थी।

ये ही नहीं ‘द संडे टाइम्स’ ने साल 2000 में उन्हें ‘ब्रिटिश बिल गेट्स’ का टाइटल दिया था और उस साल उनकी नेट वर्थ 718 करोड़ रुपए से ज्यादा की थी और साल 2003 में इन्हें ब्रिटिश क्वीन ने बकिंघम पैलेस पर बुलाकर सम्मानित किया साथ ही साथ वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने रुबेन को ‘ग्लोबल लीडर ऑफ टुमॉरो’ के टाइटल भी दिया था।

source 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *